Skip to main content
Spiritual Monk

Spiritual Monk

By Vivek Padalia
Sharing my learning and experinces from life which can be helpful for the listeners. The Odyssey Kahaniya - TOK is the collection of short stories which brings meaning and direction in our life. Enjoy listening with me. Your Host Vivek Padalia Spiritual Monk Holistic Life & Career Coach
Listen on
Where to listen
Breaker Logo

Breaker

Google Podcasts Logo

Google Podcasts

Pocket Casts Logo

Pocket Casts

RadioPublic Logo

RadioPublic

Spotify Logo

Spotify

TOK : 2021 Habit : Power Centre By Spiritual Monk
You will come to know about the importance of Habit in life and why it is difficult to change any habit or forming a new one. How habit is deciding factor in our life for a desired change? What is the role of will power & positive thoughts in making the habit? Enjoy the session to overcome our basic character of being in comfort...Do write to us for any feedback and topics you want to listen from us in future! Follow us on you tube channel / facebook page of speaking Buddha. speakingbudha@gmail.com #jeevanjeenekikala www.vivekpadalia.com
08:17
June 19, 2021
TOK - 2021 :Joy of Renunciation - Spirit of India By Spiritual Monk
Dear Friends, we have touched this aspect in our episode because all around us the situation is very difficult since april 2021 and we have seen number of people are dedicatedly serving the society all day in day out. Be it donating the blood, managing oxygen, arranging beds, coordinating , donating money and selfless service. We are saluting the brave and noble souls of the country. We are also coming up with our smart talks sessions sharing similar stories of Corona Warriors. In the journey of making this world a better place for future. Speaking Buddha !
05:24
May 15, 2021
TOK - 2021: Growth By Spiritual Monk
2020 की यादें और 2021 की मुलाकात है 2020 में बहुत कुछ ऐसा हुआ है जो हमको जिंदगी को एक नए तरीके से देखने को प्रेरित करता है हम सभी ने एक नई तरीके के जीवन को पनपते हुए देखा है और इस दौर में बहुत कुछ ऐसा हुआ है जो पहले कभी नहीं हुआ सीखा भी बहुत समझा भी बहुत और जाना भी बहुत इसी समझने में और मुड़ कर देखने में एक व्यक्ति अपनी जिंदगी से कुछ बातें करता है और कहता है- ए जिंदगी मैं तो तेरे साथ था तूने मुझे कभी रुक कर मेरा हाल पूछा ही नहीं ना कभी तूने मुझे रुक कर जाना ही नहीं तू तो अपनी मस्ती में बड़े जा रही है और देख में कैसे जिए जा रहा हूं तो जिंदगी उसको जवाब देती है ए मेरे हमसफर मैं तो हमेशा तेरे साथ हूं तू यह ना सोच कि मैंने क्या कहा और क्या नहीं, जिंदगी जीने का नाम है हर पर चलने का नाम है बस तू हर पल चलता चल आगे बढ़ता चल कल तेरा आज तेरे हाथ में है चाहे तू इसे बनाता चल या फिर बिगाड़ चल मैं तो तेरे साथ हूं हर पल मुस्कुराती हूं देख कर तेरी बातें मैं नई होने वाली मुलाकातों में तुझे हर पल पाती हूं! मेरे साथ चले कदमो की आहट से कुछ सीख कर आने वाले कल को संभाल ले यह ना सोच कि मैंने तुझसे रुक कर कुछ पूछा या नहीं बस तू ए मेरे हमसफर आगे बढ़ता चल चलता चल मैं तो तेरे साथ हूं!
18:20
January 03, 2021
TOK ~ Self-confidence & Ego: आत्मविश्वास - अहंकार By Spiritual Monk
इस एपिसोड में हम बात कर रहे हैं अपनी छवि को, क्षमताओं को पहचानने की और यदि हमें उनका ज्ञान हो तो हम आप कुछ भी कर सकते हैं और यदि किसी कारणवश हमें उनका ज्ञान ज्ञान नहीं होता तो हमें अपने जीवन की छोटी छोटी चीजों को भी प्राप्त करने में बहुत मुश्किल जाती है, यानी कि बहुत जरूरी है कि हम अपनी क्षमताओं को पहचान हैं तो हम आत्मविश्वास से भरकर जीवन में अपेक्षित सफलता पा सकते हैं अन्यथा हम अहंकार भाव में ही रह जाएंगे| धन्यवाद!
05:12
November 11, 2020
TOK - Respect & Disrespect : मान अपमान By Spiritual Monk
आज इस एपिसोड में हम बात कर रहे हैं कि किस प्रकार हमारे जीवन में हमारे भिन्न-भिन्न रिश्तो में मान और सम्मान का रोल है यदि हम सम्मान की बात करें तो सभी रिश्तो की नींव सम्मान पर टिकी होती है किंतु हम कितनी बार अपमान करते हैं अपने सभी मित्रों का पति पत्नी का माता पिता का बच्चों का अपने यहां कार्य करने वाले लोगों का | क्या आपने कभी सोचा है कि ऐसा क्यों होता है और ऐसा करके हम क्या सिद्ध करना चाहते हैं, और जब हमेशा करते हैं तो क्या उससे कुछ सिद्ध हो पाता है या केवल हमारी एक अभिलाषा है या एक ख्वाहिश होती है जो पूरी हो जाती है | इन सब बातों को जानने के लिए सुनिए हमारा आज का एपिसोड| धन्यवाद!
06:38
November 04, 2020
TOK: Stress Free life~ तनाव रहित जीवन जीने की कला BY Spiritual Monk
तनाव आज के माहौल में जीवन में ऐसा कोई भी नहीं है जिसको यह तनाव नहीं होता है या यूं कहें कि जो इस से मुलाकात ना कर पाता हो अगर देखें तो हम यूं ही कह सकते हैं कि तनाव आज के जीवन में सबसे मुलाकात करता है कभी अपना मान कर कभी बेगाना मानकर पर अब यह तनाव को हम कैसे दूर कर सकते हैं ऐसा क्या कोई तरीका है जिससे हम इस तनाव को थोड़ा दूरी पर रखें या इससे बचकर रहें हां पॉसिबल है किंतु उसके लिए हमें थोड़े से प्रयत्न करने पड़ेंगे क्योंकि चिंता जो है चिता के समान है और इस चिंता से हमें थोड़ा सा बच के रहना होगा अब यह चिंता से हम कैसे बच के रह सकते हैं| इस एपिसोड में हम तनाव को दूर करने के कुछ नुस्खे पर बात करेंगे सुनते रहिए और हंसते रहिए प्यार करते रहिए और प्यार करते रहे बस इतना ही है इसको दूर करने का तरीका| ईश्वर कृपा करेंगे | धन्यवाद!
08:09
November 03, 2020
TOK: Being Indian: Rachnatmakta ka Bhav - Kids Special BY Spiritual Monk
पुराने समय से हम बच्चों को गुरुकुल में भेजा करते थे, और वहां पर हर प्रकार की शिक्षा दी जाती थी ऐसा नहीं था कि केवल एक ही दिशा में या एक ही विषय में बताया जाता था| किंतु आज विद्यालय में केवल पुस्तक तक ही सीमित हो चुके हैं बहुत कम जगह ऐसा होता है जहां पर चहुमुखी विकास की ओर ध्यान केंद्रित किया जाता है, और देश के महापुरुषों के बारे में , गौरव इतिहास के बारे में और रचनात्मक भाव को बनाने में जिन चीजों की आवश्यकता है उनको छोड़ दिया जाता है| जैसे कि यदि हम हमारे देश में आज साफ सफाई पर जो देना चाहते हैं उसको क्रियान्वित करने के लिए बहुत जरूरी है कि बच्चों को बचपन से ही उसके बारे में जागृत करना शुरू करना चाहिए यदि हम ऐसा कर पाए तो आने वाले समय में यह सारे परिवर्तन हम अपने देश में देखने के लिए ज्यादा दिनों का इंतजार नहीं करना पड़ेगा मुझे उम्मीद है हम सभी बच्चों को और अपने यहां समाज में आवश्यक बदलाव को शीघ्र से शीघ्र लेकर आएंगे चाहे उसके लिए हमें किसी भी प्रकार का योगदान देना पड़े आशा है आपको है एपिसोड पसंद आएगा और यदि किसी और चीजों की ओर हमें ध्यान आकृष्ट करना है तो कृपया बताएं| धन्यवाद !
07:20
November 03, 2020
TOK:Conversation with God By Spiritual Monk
This conversation is based on write up of John Riedel between God and Man. It's about change and anxiety around it. God helped the man to accept the change with grace. Enjoy the conversation! Thank You
06:33
November 01, 2020
TOK: The Odyssey Kahaniya - जीवन जीने की कला By Spiritual Monk
Life is a Journey and we should keep moving like river water and helping lives and enviornment around us to grow and spread love and happines for our current & future genration. जिंदगी हमारी जीने का नाम है रुकने का नहीं चाहे कुछ भी हो, चाहे कोई भी परेशानी हो, बढ़ते चलो जो लोग चलते रहते हैं वही मंजिल पर पहुंचते हैं और जो रुक जाते हैं वह मंजिल के करीब तो क्या उसे देख कर नहीं पाते हैं| जिस प्रकार तालाब का पानी रुक जाता है और उसमें एक समय के बाद बदबू आने लगती है वैसे ही यदि हम जिंदगी में आने वाली परेशानियों से डरकर रुक जाते हैं तो हमें भी जिंदगी में नाकामियों घेर लेती है हमें चाहिए कि परेशानी कोई भी हो उसका डटकर मुकाबला करें और हंसते रहे लोगों को हंसाते हुए खुशियां देते हैं और जो भी हमसे बन सके करते हुए आगे बढ़ते रहें| जो ऐसा करते हैं उनको जिंदगी भी हंसकर गले लगाती है | कहने के लिए तो सभी के जीवन में कुछ ना कुछ संघर्ष चलता रहता है पर वह संघर्ष है क्या क्या वह वाक्य में ही ऐसा है जो हमें रोकता है या ऐसा है जो मैंने आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित करता है, यदि हम उस से डरे नहीं और उस समय से सीखे तो हम अपने जीवन के संघर्षों को संघर्ष ना कह कर प्रेरणा स्रोत कहेंगे जो हमें जीत की ओर अग्रसर करते हैं| दोस्तों हम सभी के लिए बहुत जरूरी है कि हम मिलजुल कर अपने साथियों के लिए अपने परिवार के लिए समाज के लिए और पृथ्वी पर रहने वाले सभी पशु पक्षियों के लिए जीवनदायिनी वृक्षों के लिए कुछ करें| जब हम कुछ करने की बात करते हैं तो यह कुछ क्या है वह कुछ नहीं बहुत कुछ है , जैसे हम अपने जीवन में प्रयोग करने वाले प्लास्टिक के उत्पाद और वृक्षों को काटन को कम करें और कोशिश करेंगे कि जितना हो सके उतना  उसको क्योंकि रोके  जैसा हम पिछले कुछ सालों में देख रहे हैं कि पृथ्वी पर वातावरण में बहुत बदलाव आया है , उस बदलाव का कारण है कि ना तो  बरसात समय पर होती है ना किसान अपनी उपज को ढंग से बना पता है और अक्सर शहरों में तो लोग सांस भी नहीं ले पाते हैं| जिसके कारण शहरों में चलने वाली गाड़ियां ऑफिस जाने वाले लोग और स्कूल जाने वाले बच्चों को घर पर ही रहना पड़ता है| यह क्या है यह भी तो एक तरह से दोनों ने हमारी शक्ति का हमारी ऊर्जा का और हमारे समय का इसका प्रयोग हम किसी न किसी कार्य में कर सकते थे किंतु नहीं कर पाए और हमने समय का सदुपयोग करने की जगह दुरुपयोग किया कहने का मतलब है कि चाहे हम जो भी करें उसका हमारे जीवन पर और हमारे आसपास रहने वाले लोगों के जीवन पर हमेशा प्रभाव होता है यह और बात है कि हम लोग देख पाते हैं या नहीं या समझ पाएंगे या कभी नहीं किंतु हम इस बात से इंकार नहीं कर सकते कि यह पृथ्वी पर  रहने वाले सभी जीव जंतु , हमारा समाज  , हमारे परिवार के सदस्य और यहां तक की छोटे ना दिखने वाले जीव जंतु सब लोग एक दूसरे से जुड़े हुए हैं | जीवन बहुत बहुत ही सुंदर ईश्वर की देन है और हमारे द्वारा किए गए सारे क्रियाकलाप हमें ईश्वर की बनाई हुई धरोहर को बनाने और बचाने के लिए किए गए हैं किंतु अज्ञानता वश हम उस में योगदान देने के बजाय उसको तोड़ने में करते रहते हैं |  हमें चाहिए सबसे पहले हम खुद को जाने हैं पहचाने और सभी को आगे बढ़ने में मदद करें ताकि हमारे सामूहिक प्रयास से पृथ्वी और यहां पर रहने वाले जीवन को आज और भविष्य में किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो|  जय हो !! आपका मित्र  Spiritual Monk
05:09
November 01, 2020